आत्मा का प्रबोधन और शयन काल